कोरोना टेस्ट कराए बिना एयरपोर्ट से भागे 300 यात्री, खोजने में जुटी पुलिस; दर्ज होगा FIR:

post

असम। कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के बीच असम के सिलचर एयरपोर्ट से 300 यात्री बिना टेस्ट कराए ही फरार हो गए। घटना को लेकर अधिकारियों ने कहा कि सभी ट्रेस करने योग्य हैं क्योंकि हमारे पास उनका पूर्व विवरण हैं। अधिकारियों ने बताया कि बिना कोरोना टेस्ट कराए एयरपोर्ट से भागने वालों यात्रियों के खिलाफ कल केस दर्ज किया जाएगा। पुलिस ने कहा कि फिलहाल भागे हुए यात्रियों को पकड़ने के लिए उनकी खोजबीन की जा रही है।
कछार जिले के अतिरिक्त उपायुक्त सुमित सत्तवान ने बताया कि छह विमानों से देश के विभिन्न हिस्सों से कुल 690 यात्री सिलचर हवाईअड्डे पर पहुंचे थे। उन्होंने कहा कि कोविड-19 जांच के लिए हवाईअड्डे पर तथा पास में स्थित तिकोल मॉडल अस्पताल में इन यात्रियों के नमूने लिए जाने थे। अधिकारी ने कहा, 'जांच शुल्क के लिए 500 रुपए के भुगतान को लेकर लगभग 300 यात्रियों ने इन दोनों स्थानों पर हंगामा किया।
असम सरकार ने राज्य में हवाई मार्ग से पहुंचने वाले सभी यात्रियों के लिए कोविड-19 जांच अनिवार्य कर दी है जिसके तहत रैपिड एंटीजन जांच नि:शुल्क की जाती है और फिर आरटी-पीसीआर जांच की जाती है जिसके लिए 500 रुपये का भुगतान करना होता है। रैपिड एंटीजन जांच में संक्रमणमुक्त पाए जाने वाले यात्रियों को भी आरटी-पीसीआर जांच से गुजरना होता है। अधिकारी ने बताया कि 690 यात्रियों में से 189 की जांच की गई जिनमें से छह कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए। कई यात्रियों को जांच से छ्रट दी गई क्योंकि उनका गंतव्य असम की जगह मणिपुर, मिजोरम और त्रिपुरा जैसे पड़ोसी राज्यों का था।


असम। कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के बीच असम के सिलचर एयरपोर्ट से 300 यात्री बिना टेस्ट कराए ही फरार हो गए। घटना को लेकर अधिकारियों ने कहा कि सभी ट्रेस करने योग्य हैं क्योंकि हमारे पास उनका पूर्व विवरण हैं। अधिकारियों ने बताया कि बिना कोरोना टेस्ट कराए एयरपोर्ट से भागने वालों यात्रियों के खिलाफ कल केस दर्ज किया जाएगा। पुलिस ने कहा कि फिलहाल भागे हुए यात्रियों को पकड़ने के लिए उनकी खोजबीन की जा रही है।
कछार जिले के अतिरिक्त उपायुक्त सुमित सत्तवान ने बताया कि छह विमानों से देश के विभिन्न हिस्सों से कुल 690 यात्री सिलचर हवाईअड्डे पर पहुंचे थे। उन्होंने कहा कि कोविड-19 जांच के लिए हवाईअड्डे पर तथा पास में स्थित तिकोल मॉडल अस्पताल में इन यात्रियों के नमूने लिए जाने थे। अधिकारी ने कहा, 'जांच शुल्क के लिए 500 रुपए के भुगतान को लेकर लगभग 300 यात्रियों ने इन दोनों स्थानों पर हंगामा किया।
असम सरकार ने राज्य में हवाई मार्ग से पहुंचने वाले सभी यात्रियों के लिए कोविड-19 जांच अनिवार्य कर दी है जिसके तहत रैपिड एंटीजन जांच नि:शुल्क की जाती है और फिर आरटी-पीसीआर जांच की जाती है जिसके लिए 500 रुपये का भुगतान करना होता है। रैपिड एंटीजन जांच में संक्रमणमुक्त पाए जाने वाले यात्रियों को भी आरटी-पीसीआर जांच से गुजरना होता है। अधिकारी ने बताया कि 690 यात्रियों में से 189 की जांच की गई जिनमें से छह कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए। कई यात्रियों को जांच से छ्रट दी गई क्योंकि उनका गंतव्य असम की जगह मणिपुर, मिजोरम और त्रिपुरा जैसे पड़ोसी राज्यों का था।


शयद आपको भी ये अच्छा लगे!

Sidebar Banner
Sidebar Banner
Sidebar Banner
Sidebar Banner